देश समाज

अधिसंख्य किसान तो खड़ी फसल बेचने को ही मजबूर

कृषि कानूनों को लेकर माहौल गरम है। लंबे समय से किसान दिल्ली को घेरे बैठे हैं और दिल्ली उनकी बात सुनने को तैयार नहीं है। मैं कोई विधिवेत्ता तो हूं नहीं कि इस विवादास्पद अधिनियम के वैधानिक पहलुओं पर अपनी कोई राय दे सकूं, पर कुछ व्यावहारिक कठिनाइयां जो मुझे सूझ पड़ती हैं, उन्हीं जरूर […]

Sushant Singh Rajput
अन्य

14 जून को क्या सुशान्त वाकई अशान्त था?

अब यह तो सीबीआई ही बता सकती है कि सुशान्त सिंह राजपूत की हत्या हुई थी या फिर उसने आत्महत्या की थी परन्तु जैविक लय या बायोरिद्म की मानें को 14 जून 2010 को जब सुशान्त ने अपनी आखिरी सांसे लीं, उस दिन वह भावात्मक तथा बोद्धिक दोनों तौर से बेहद कमजोर था, जबकि शारीरिक […]

पेंगांग लेक
अन्य देश राजनीति समाज संस्कृति साहित्य

पेंगांग त्सो और चीनी होटल

ऊपर आप जो चित्र देख रहे हैं, वह पेंगांग त्सो का है। त्सो लद्दाखी में झील या लेक को कहते हैं। यानी यह पेंगांग लेक है, जो इन दिनों खबरों में बना हुआ है। मैं यहां तीन बार जा चुका हूं और हर बार मैंने इसे नए नजरिये से देखा है। पहली बार मैं यहां […]