संस्कृति

दशावतार : मानवता के विकास की कहानी

रंजन कुमार सिंह धर्मं का निरूपण शास्त्र द्वारा होता है। शास्त्र वस्तुतः दर्शन हैं, जो किसी भी धर्म को परिभाषित करते हैं। परन्तु, अपने स्वरुप की विशिष्टता के कारण वे कठिन होते हैं। कठिन धार्मिक सिद्धांतों को आम जन के लिए सरल बनाने के लिए आख्यानकों का सहारा लिया जाता है। यानी कथा-कहानियों के माध्यम […]

देश राजनीति

घरों में घमासान

रंजन कुमार सिंह उत्तर प्रदेश में अब जब चुनाव सिर पर है, वहां का सत्तारूढ़ यादव परिवार गृह कलह का शिकार बना हुआ है। बाप-बेटे में नहीं बन रही, चाचा-भतीजा एक-दूसरे को फूटी आँखों नहीं सुहा रहे, इसमें किसी बाहरी के षडयंत्र का ऐंगल है तो साथ ही सौतेली माँ का छौंक भी लगा हुआ […]

संस्कृति

बॉलीवुड पर आतंक का साया

रंजन कुमार सिंह कुछ दिनों पहले हमने बिहार में मेट्रिक के सर्टिफिकेट बिकते देखे थे और अब महाराष्ट्र में देशभक्ति का सर्टिफिकेट बिकता भी देख लिया। सेना कल्याण कोष में पाँच करोड़ रुपए मात्र जमा कराने को राज़ी होकर करण जौहर रातों-रात देशद्रोही से देशप्रेमी हो गए। राज ठाकरे की नेतृत्व वाली महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना […]

साहित्य

मौसम जुआ-जुआ

रंजन कुमार सिंह मेरे मित्र ने हर साल की तरह मुझे दीपावली के पहले भोज का निमंत्रण दिया तो मुझे याद हो आया कि जुआ का मौसम आ चला है। दरअसल, साल में एक बार ही हमें उनके घर से बुलावा आता है और वह भी ठीक दीपावली से पहले। मित्र सरकारी सेवा में हैं […]

राजनीति

बड़ी महंगी पड़ी बिरयानी

उरि का बदला हमने भिंबर में लिया वहां स्थित आतंकियों के अनेक ठिकाने नेस्तनाबूत कर के। भिंबर पर आज भले ही पाकिस्तान का कब्जा हो, पर यह इलाका हमारा ही है। भिंबर शहर सहित भिंबर घाटी का बड़ा भाग पाक अधिकृत कश्मीर में है, जबकि नियंत्रण रेखा जिस जगह से गुजरती है, उसे भिंबर गली […]