अन्य

सांत्वना और सहानुभूति से हटकर सफलता पर नजर

सांत्वना और सहानुभूति जादू की वह छड़ी है जो असफलता के क्षणों में किसी को बल दे सकती है। लेकिन सौ में से सौ अंक पाने को ही सफलता मान लेना हमारी भारी भूल है। 99 अंक पानेवाले को सांत्वना नहीं दी जाती, बल्कि बधाई दी जाती है। और यहीं हमसे चूक हो गई। सांत्वना […]